वचन (Vachan) एकवचन से बहुवचन बनाने के नियम

वचन जिस संज्ञा शब्द से किसी वस्तु , पदार्थ या वस्तु के एक या अनेक होने का बोध हो , उसे वचन कहते है । हिंदी भाषा में वचन दो प्रकार के होते है | एकवचन और बहुवचन 1. एकवचन (Singular – Ekvachan) – शब्द के जिस रूप से केवल एक…

0 Comment

काल(Tense)(Kal)

Kal(Tense)(काल) काल (Tense) की परिभाषा काल किर्या के उस रूप को खा जाता है जिसके द्वारा किसी कार्य के समय , उसकी पूर्ण अथवा अपूर्ण अवस्था का बोध हो कार्य के समय के आधार पर किर्या के काल को तीन प्रकार का माना जाता है (1)वर्तमान काल (present Tense) (2)भूतकाल(Past…

0 Comment

Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)(पर्यायवाची शब्द) Page 2

Page 2 Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)(पर्यायवाची शब्द) ( छ ) (1) छतरी- छत्र, छाता, छत्ता। (2) छली- छलिया, कपटी, धोखेबाज। (3) छवि- शोभा, सौंदर्य, कान्ति, प्रभा। (4) छानबीन- जाँच, पूछताछ, खोज, अन्वेषण, शोध, गवेषण। (5) छैला- सजीला, बाँका, शौकीन। (6) छोर- नोक, कोर, किनारा, सिरा। ( ज, झ ) (7)…

2 Comments

Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)(पर्यायवाची शब्द) Page -3

 Page 3 Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)(पर्यायवाची शब्द) ( ल ) (1)  लक्ष्मी- चंचला, कमला, पद्मा, रमा, हरिप्रिया, श्री, इंदिरा, पद्ममा, सिन्धुसुता, कमलासना। (2)  लड़का- बालक, शिशु, सुत, किशोर, कुमार। (3)  लड़की- बालिका, कुमारी, सुता, किशोरी, बाला, कन्या। (4)  लक्ष्मण- लखन, शेषावतार, सौमित्र, रामानुज, शेष। (5)  लौह- अयस, लोहा, सार। (6)  लता- बल्लरी, बल्ली, बेली। ( व…

2 Comments
suffix in hindi

प्रत्यय तथा प्रत्यय के प्रकार

प्रत्यय (Suffix) वे शब्दांश , जो शब्दो के अंत में जुड़ने पर उनके अर्थ में परिवर्तन ला देते है , प्रत्यय कहलाते है । प्रत्यय दो प्रकार के होते है संस्कृत प्रत्यय के प्रकार   तद्धित प्रत्यय  कृत प्रत्यय या कृदंत प्रत्यय 1. तद्धित प्रत्यय संज्ञा , सर्वनाम तथा  विशेषण शब्दो के साथ…

0 Comment
Upsarg-Prefixes

उपसर्ग (Prefixes) Upsarg | Upsarg HindiGrammar

उपसर्ग की परिभाषा (Prefixes) वे शब्द जो किसी शब्द में लगकर नए शब्द का निर्माण करते है तथा नए अर्थ का बोध कराते है, उपसर्ग कहलाते है । जैसे हम हार शब्द लेते है । हार का वास्तविक अर्थ होता है ‘ पराजय ‘ या ‘ गले का आभूषण ‘…

0 Comment

तत्सम और तद्भव

तत्सम तत्सम दो शब्दों से मिलकर बना है – तत +सम , जिसका अर्थ होता है ज्यों का त्यों। जिन शब्दों को संस्कृत से बिना किसी परिवर्तन के ले लिया जाता है उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं। इनमें ध्वनि परिवर्तन नहीं होता है। जैसे :- अंध , अर्द्ध  ,अन्न , अनर्थ , अग्रणी…

0 Comment
संज्ञा और उसके भेद

संज्ञा (Noun) | संज्ञा और उसके भेद

संज्ञा  (Noun) (नाम) संज्ञा की परिभाषा किसी प्राणी , वस्तु , स्थान, तथा भाव के नाम को संज्ञा कहते है । जैसे -मिठास , कड़वाहट , राकेश, कुर्सी, पत्थर, सेना, खिलाडी आदि। संज्ञा के प्रकार Noun is classified into five parts. (संज्ञा पांच भागों में वर्गीकृत किया गया है ) 1)…

0 Comment
समास तथा समास के प्रकार

समास तथा समास के प्रकार

समास परिभाषा :- ‘समास’ शब्द का शाब्दिक अर्थ होता है ‘छोटा रूप’। अतः जब दो या दो से अधिक शब्द (पद) अपने बीच की विभक्तियों का लोप कर जो छोटा रूप बनाते है, उसे समास, सामाजिक शब्द या समस्त पद कहते है। उदाहरण -> ‘रसोई के लिए घर’ शब्दों में…

0 Comment

विलोम शब्द in hindi | Vilom Shabd in hindi

विलोम शब्द विलोम शब्द वह शब्द है जिसका अर्थ दिए हुए शब्द के एकदम उल्टा होता है जैसे – ‘ कोमल – कठोर ‘, ‘ एक – अनेक ‘ । कुछ विलोम शब्दों के उदाहरण नीचे दिए जा रहे है – ०♦ महत्त्वपूर्ण विलोम शब्द  ०♦ शब्द – विलोम शब्द शब्द विलोम शब्द अंश पूर्ण अंतर्मुखी बहिर्मुखी अंतरंग बहिरंग अति अल्प अपना पराया अपराजित पराजित अर्वाचीन प्राचीन अकाल सुकाल अभिज्ञ अनभिज्ञ अनन्त अन्त, सान्त अज्ञ विज्ञ अधिमूल्यन अवमूल्यन…

0 Comment