मुहावरे | Hindi muhavare

अक्ल पर पत्थर पड़ना  बुद्धि भष्ट होना

अंक भरना  स्नेह से लिपटा लेना

अंग टूटना – थकान का दर्द

अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनना  – स्वयं अपनी प्रशंसा करना

अक्ल का चरने जाना – समझ का अभाव होना

अपने पैरों पर खड़ा होना  – स्वालंबी होना

अक्ल का दुश्मन  – मूर्ख

अपना उल्लू सीधा करना – मतलब निकालना

अंगारों पर लेटना  – डाह होना, दुःख सहना

अँगूठा दिखाना- समय पर धोखा देना

अण्ड-बण्ड कहना – भला-बुरा या अण्ट- सण्ट कहना

अन्धा बनाना – धोखा देना

अन्धा होना – विवेकभ्रष्ट होना

अन्धे की लकड़ी – एक ही सहारा

अकेला दम – अकेला

अक्ल की दुम – अपने को बड़ा होशियार लगानेवाला

अगले जमाने का आदमी – सीधा-सादा, ईमानदार

अढाई दिन की हुकूमत – कुछ दिनों की शानोशौकत

अपना किया पाना – कर्म का फल भोगना

अपना-सा मुँह लेकर रह जाना – शर्मिन्दा होना

अपनी खिचड़ी अलग पकाना – स्वार्थी होना, अलग रहना

अपने पाँव आप कुल्हाड़ी मारना – संकट मोल लेना

अब-तब करना – बहाना करना

अब-तब होना – परेशान करना या मरने के करीब होना

अंग-अंग ढीला होना – अत्यधिक थक जाना

अंगारे उगलना – कठोर और कड़वी बातें कहना

अंगारों पर लोटना – ईर्ष्या से व्याकुल होना

अँगुली उठाना – किसी के चरित्र या ईमानदारी पर संदेह व्यक्त करना

अँगुली पकड़कर पहुँचा पकड़ना – थोड़ा पाकर अधिक पाने की कोशिश करन

अँगूठा छाप – अनपढ़

अंगूर खट्टे होना – कोई वस्तु न मिलने पर उससे विरक्त होना

अंतिम घड़ी आना – मौत निकट आना

अंधा बनना – ध्यान न देना

अंधे के हाथ बटेर लगना – अनाड़ी आदमी को सफलता प्राप्त होना

अंधे को दो आँखें मिलना – मनोरथ सिद्ध होना

अंधेर मचना – अत्याचार करना

अक्ल का अंधा – मूर्ख व्यक्ति

अक्ल के पीछे लट्ठ लेकर फिरना – हर वक्त मूर्खता का काम करना

अक्ल घास चरने जाना – वक्त पर बुद्धि का काम न करना

अक्ल ठिकाने लगना – गलती समझ में आना

अगर-मगर करना – तर्क करना या टालमटोल करना

अपना रास्ता नापना – चले जाना

अपना सिक्का जमाना – अपनी धाक या प्रभुत्व जमाना

अपना सिर ओखली में देना – जान-बूझकर संकट मोल लेना

अंगारों पर पैर रखना – अपने को खतरे में डालना, इतराना

अक्ल का अजीर्ण होना – आवश्यकता से अधिक अक्ल होना

अन्त पाना – भेद पाना

अन्तर के पट खोलना – विवेक से काम लेना

अक्ल के घोड़े दौड़ाना  – कल्पनाएँ करना

अपने दिनों को रोना – अपनी स्वयं की दुर्दशा पर शोक प्रकट करना

अन्धों में काना राजा- (अज्ञानियों में अल्पज्ञान वाले का सम्मान होना)

अंकुश देना- (दबाव डालना)

अंग में अंग चुराना- (शरमाना)

अंग-अंग फूले न समाना- (आनंदविभोर होना)

अंगार बनना- (लाल होना, क्रोध करना)

अँधेरे मुँह- प्रातः काल, तड़के

अपना घर समझना- बिना संकोच व्यवहार

आँख भर आना – आँसू आना

आँखों में बसना – हृदय में समाना

आँखे खुलना – सचेत होना

आँख का तारा – बहुत प्यारा

आँखे दिखाना – बहुत क्रोध करना

आसमान से बातें करना – बहुत ऊँचा होना

आँच न आने देना – जरा भी कष्ट या दोष न आने देना

आठ-आठ आँसू रोना – बुरी तरह पछताना

आसन डोलना – लुब्ध या विचलित होना

आस्तीन का साँप – कपटी मित्र

आसमान टूट पड़ना – गजब का संकट पड़ना

आकाश छूना – बहुत तरक्की करना

आकाश-पाताल एक करना – परिश्रम करना

आँच आना – हानि या कष्ट पहुँचना

आँचल पसारना – प्रार्थना करना या किसी से कुछ माँगना

आँतें बुलबुलाना – बहुत भूख लगना

आँतों में बल पड़ना – पेट में दर्द होना

आँधी के आम होना – बहुत सस्ता होना

आँसू पीना या पीकर रहना – दुःख या कष्ट में भी शांत रहना

आकाश का फूल होना – अप्राप्य वस्तु

आकाश के तारे तोड़ लाना – असंभव कार्य करना

आग उगलना – कड़वी बातें कहना

आकाश से बातें करना – अत्यधिक ऊँचा होना

आग बबूला होना – अति क्रुद्ध होना

आग पर लोटना – ईर्ष्या से जलना

आग में घी डालना  – क्रोध को और भड़काना

आग लगने पर कुआँ खोदना- विपत्ति आने पर/ऐन मौके पर प्रयास करना

आग लगाकर तमाशा देखना – दूसरों में झगड़ा कराके अलग हो जाना

आटे-दाल का भाव मालूम होना – दुनियादारी का ज्ञान होना या कटु परिस्थिति का अनुभव होना

आग से खेलना – खतरनाक काम करना

आग हो जाना – अत्यन्त क्रोधित हो जाना

आगा-पीछा न सोचना – कार्य करते समय हानि-लाभ के बारे में न सोचना

आज-कल करना – टालमटोल करना

आटे के साथ घुन पिसना – अपराधी के साथ निर्दोष को भी सजा मिलना

आधा तीतर, आधा बटेर –  बेमेल वस्तुएँ

आसमान पर उड़ना  – थोड़ा पैसा पाकर इतराना

आसमान पर चढ़ना – बहुत अभिमान करना

आसमान पर थूकना – किसी महान् व्यक्ति को बुरा-भला कहना

आसमान पर मिजाज होना – अत्यधिक अभिमान होना

आसमान सिर पर उठाना – अत्यधिक ऊधम मचाना

आसमान सिर पर टूटना – बहुत मुसीबत आना

आसमान से गिरे, खजूर में अटके – एक परेशानी से निकलकर दूसरी परेशानी में आना

आस्तीन चढ़ाना – लड़ने को तैयार होना

आह लेना – बद्दुआ लेना

आग पर आग डालना- जले को जलाना

आग पर पानी डालना- क्रुद्ध को शांत करना, लड़नेवालों को समझाना-बुझाना

आग पानी का बैर- सहज वैर

आग बोना- झगड़ा लगाना

आग लगाकर पानी को दौड़ाना- पहले झगड़ा लगाकर फिर उसे शांत करने का यत्न करना

आग से पानी होना- क्रोध करने के बाद शांत हो जाना

आग में कूद पड़ना- खतरा मोल लेना

आन की आन में- फौरन ही

आग रखना- मान रखना

आसमान दिखाना- पराजित करना

आड़े आना- नुकसानदेह

अगिया बैताल- क्रोधी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *