वचन (Vachan) एकवचन से बहुवचन बनाने के नियम

वचन

जिस संज्ञा शब्द से किसी वस्तु , पदार्थ या वस्तु के एक या अनेक होने का बोध हो , उसे वचन कहते है ।

हिंदी भाषा में वचन दो प्रकार के होते है |

एकवचन और बहुवचन

1. एकवचन (Singular – Ekvachan) – शब्द के जिस रूप से केवल एक व्यक्ति , वस्तु या स्थान का बोध हो , उसे एकवचन के नाम से जाना जाता है । जैसे पुस्तक, राम, गाय, छात्र , चींटी आदि |

2. बहुवचन (Plural – Bahuvachan) – शब्द के जिस रूप से एक से अधिक व्यक्तियों , वस्तुओं या स्थानों का बोध हो, उसे बहुवचन के नाम से जाना जाता है ।
जैसे पुस्तके , चीटियां, चिड़ियाँ, आदि ।

एकवचन से बहुवचन बनाने के नियम

आकारांत पुर्लिंग शब्दों में अंतिम अको ए कर दिया जाता है |

  • जूता – जूते
  • पंखा – पंखे
  • ताला – ताले
  • शीशा – शीशे
  • चमचा – चमचे
  • बेटा – बेटे
  • दरवाजा – दरवाजे
  • कीड़ा – कीड़े
  • चूहा – चूहे
  • परदा – परदे

अकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों में अंत में ऐं जोड़ दिया जाता है |

  • रात – रातें
  • आँख – आंखें
  • गेंद – गेंदे
  • दवात – दवातें
  • चप्पल – चप्पलें
  • कमीज – कमीजें
  • मशीन – मशीने
  • दीवार – दीवारे
  • साईकिल – साइकिले

आकारांत स्त्रीलिंग शब्दों में अंत में एँ जोड़ दिया जाता है |

  • आत्मा – आत्माएँ
  • कला – कलाएँ
  • सेना – सेनाएँ
  • गाथा – गाथाएँ
  • शाखा – शाखाएँ
  • छात्रा – छात्राएँ
  • कविता – कविताएँ
  • शिला – शिलाएँ

इकारांत और ईकारांत शब्दों के अंत में याँ जोड़ दिया जाता है और ई को हस्व इ क्र दिया जाता है |

  • थाली – थालियाँ
  • मक्खी – मक्खियाँ
  • नारी – नारियाँ
  • धोती – धोतियाँ
  • घड़ी – घड़ियाँ
  • सीटी – सीटीयाँ
  • बस्ती – बस्तियाँ
  • नीति – नीतियाँ
  • जाति – जातियाँ

इया अंत वाले स्त्रीलिंग शब्दों में अंतिम या को याँ कर दिया जाता है |

  • चिड़िया – चिड़ियाँ
  • लुटिया – लुटियाँ
  • खटिया – खटियाँ
  • बुढ़िया – बुढ़ियाँ
  • गुड़िया – गुड़ियाँ
  • बिटिया – बिटियाँ
  • डिबिया – डिबियाँ
  • लठिया – लठियाँ

उकारात ऊकारांत और ओकारान्त स्त्रीलिंग शब्दो के अंत में एँ लगा दिया जाता है तथा उकारांत शब्दों के ऊ को हस्व उ कर दिया जाता है |

  • वधु – वधुएँ
  • लू – लुएँ
  • बहु – बहुएँ
  • गौ – गौएँ
  • जूँ – जूँएँ
  • वस्तु – वस्तुएँ

गण, वृन्द, जन, वर्ग , लोग शब्द जोड़ते है |

  • छात्र – छात्रगण
  • मजदुर – मज़दूर वर्ग
  • गुरु – गुरुजन
  • अध्यापक – अध्यापक गण
  • आप – आपलोग
  • गरीब – गरीब लोग
  • हिन्दू – हिन्दुजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *